Skip to content
Home सहायक प्रक्रियाएं पेटेंट सुसाध्य केन्द्र (पी.एफ.सी.)
पेटेंट सुसाध्य केन्द्र (पी.एफ.सी.) E-mail
बौद्धिक सम्पदा का संरक्षण, आर्थिक वृद्धि की प्राप्ति के लिए, प्रतिस्पर्धात्मक प्रौद्योगिकीय खेल में लाभ की स्थिति प्रदान करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है । प्रचुर तकनीकी मानव शक्ति और अच्छे अनुसंधान एवं विकास आधारभूत सुविधा आधार के साथ, भारतीय अनुसंधान एवं विकास (आर. एंड डी.) में बौद्धिक सम्पदा तैयार करने की बौद्धिक शक्तियां है । हालांकि, अनुसंधान विकास एजेंसियां, विशेषकर शैक्षिक संस्थानों सहित सरकारी सहायता प्राप्त  अनुसंधान, संस्थानों सृजित बौद्धिक सम्पदाओं को सुरक्षित रखने के लिए सूचना, सुविधाओं और क्षमताओं की जरूरत पड़ती है । इस दिशा में पहले कदम के रूप में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा प्रौद्योगिकी सूचना, पूर्वानुमान एवं मूल्यांकन परिषद (टाइफैक) के अन्तर्गत 1995 में पेटेंट सुसाध्य केन्द्र  (पी.एफ.सी.)  की स्थापना की गयी । इसके निम्नलिखित उद्देश्य है :

उद्देश्य

•अनुसंधान एवं विकास कार्यक्रमों को उन्नत करने की प्रक्रिया में महत्वपूर्ण निवेश (इनपुट) के रूप में पेटेंट सूचना को आगे लाना
•सतत आधार पर भारतीय और विदेशी पेटेंटों के लिए देश में वैज्ञानिकों और प्रौद्योगिकीविदों को पेटेंट सुविधाएं उपलब्ध कराना
•आई.पी.आर. के क्षेत्र में हो रहे विकासों पर दृष्टि रखना और नीति निर्माताओं, वैज्ञानिक, उद्योगों आदि को महत्वपूर्ण मुद्दों से परिचित कराना
•पेटेंटों और इस क्षेत्र की चुनौतियों और अवसरों के विषय में जागरूकता और समझ पैदा करना । इसी के साथ कार्यशालाएं, संगोष्ठियां, सम्मेलन आदि आयोजित करना