Skip to content
Home टेक्नोलॉजी रोड मैप क्षेत्रवार रोडमैप
क्षेत्रवार रोडमैप E-mail
किसी भी औद्योगिक क्षेत्र के लिए प्रौद्योगिकी रोडमैप तैयार करने की शुरुआत होती है - उस क्षेत्र की तकनीकी आवश्यकताओं के ‘डृाइवर्स’ की पहचान से और जिसके लिए मौजूदा एवं अपेक्षित वृद्धि-क्षेत्रों पर नजर रखनी पड़ती है। इसके लिए उन सभी प्रौद्योगिकी की संक्षिप्त सूची तैयार की जाती है, जो कि वृद्धि के लिए अत्यधिक महत्वपूर्ण होती है। टाइफैक ने ऐसे रोडमैप को तैयार करने में खास योगदान दिया है, विशेषरूप से आॅटोमोटिव क्षेत्र व अन्य महत्वपूर्ण औद्योगिक क्षेत्र - वस्त्र उद्योग। एक अच्छे प्रौद्योगिकी रोडमैप तैयार करने के लिए संगठित एवं उच्च स्तरीय अकादमिक-औद्योगिक-परस्पर संवाद की आवश्यकता होती है। औसतन, रोडमैप में प्रौद्योगिकी विकल्पों की संक्षिप्त सूची तैयार करने में प्रारंभिक तौर पर अकादमिक एवं पब्लिक आर ऐंड डी को पहल करनी होती है और फिर उद्योग जगत द्वारा लघु, मध्यम एवं दीर्घकालीन आवश्यकताएं निर्धारित की जाती हैं। दस्तावेज के माध्यम से स्पष्ट तौर पर प्रोजेक्ट से सीधे तौर पर जुड़ी प्रौद्योगिकी विकसित की जाती है, जिसे टाइफैक या अन्य संस्थाओं द्वारा विचारार्थ लिया जाता है। ऐसे प्रगतिशील कार्यों को संपादित करने के लिए विभिन्न माध्यमों को अपनाया जा सकता है, जैसे कि एक द्विपक्षीय व्यवस्था, जिसमें कि कंपनी व प्रौद्योगिकी प्रदान करने वाले, बहु-सांस्थानिक प्री-काॅम्पिटिटिव प्रोजेक्ट्स, या फिर सामान्य रूप से निर्देशित आधारभूत शोध कार्य, जिसे किसी सरकारी संस्था से मदद मिली हो।